Home Spirituality Healing तिब्बती हीलिंग:- एक जादुई परंपरा

तिब्बती हीलिंग:- एक जादुई परंपरा

709
1

तिब्बत इस पृथ्वी में मौजूद सबसे सुंदर देश मे से एक । यह स्थान पर्यटकों के लिए एक लुभावना सा अनुभव देता है । तिब्बत, जिसे दुनिया की छत भी कहा जाता है, एशिया की कुछ बड़ी नदियों का जन्मस्थल और प्राचीन झीलों का देश है। परन्तु इस पोस्ट में हम आपसे तिब्बत के इतिहास और वर्तमान के बारे में नहीं बताने जा रहे, उसके लिए आप गूगल बाबा की मदद ले सकते हैं । तिब्बत सिर्फ अपनी सुंदरता नहीं बल्कि अपने लोकप्रिय हासिल कर चुके तिब्बती हीलिंग प्रणाली के लिए भी जाना जाता है । तिब्बत में मुख्य बौद्ध धर्म के व्यक्ति पाए जाते हैं, यह तिब्बती हीलिंग बौद्ध धर्म की ही परंपरा है । यद्यपि यह पारंपरिक चीनी और आयुर्वेदिक चिकित्सा के साथ समानताएं साझा करता है, लेकिन इसका मूल बौद्ध धर्म की शिक्षाओं और अभ्यास में निहित है।

बौद्ध धर्म शांति में विश्वास रखता है , गौतम बुद्ध, बौद्ध धर्म के संस्थापक का एक प्रमुख सिद्धांत यह है कि जीवन और विकास दुख और बीमारी का कारण बनते हैं। शारीरिक बीमारी का मानसिक, सामाजिक और आध्यात्मिक बीमारी से गहरा संबंध है और नकारात्मक भावनाएं शारीरिक ऊर्जा में असंतुलन का कारण बन सकती हैं, जिसके परिणामस्वरूप बीमारी हो सकती है। बुद्ध की शिक्षाओं का सार हमें बताता है कि कैसे मन को शांत करना है और इन नकारात्मक भावनाओं को बदलना है।

विज्ञान तिब्बती चिकित्सा का

सोवा रिग्पा एक तिब्बती हीलिंग प्रणाली जिसका सरल शाब्दिक भाषा में अर्थ है “चिकित्सा विज्ञान” यह उपचार हमें यह बताता है कि हमारे जीवन का उद्देश्य खुश रहना है । व्यक्ति अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में कार्य की चिंतन में यह भूल जाता है कि वह जीवन मे सिर्फ धन कमाना नहीं बल्कि स्वंय को खुशी देना ही प्रमुख है । तिब्बती चिकित्सा हमें यह समझने में मदद कर सकती है कि हमारे विचारों और व्यवहार से हमारा स्वास्थ्य और खुशी कैसे प्रभावित होती है। यह इस विश्वास पर आधारित है कि सभी जीवित प्राणी तीन प्रकार की ऊर्जाओं से बने होते हैं – लूंग , ट्रिपा और बेकान । स्वास्थ्य और भलाई सुनिश्चित करने के लिए तीनों का संतुलित होना जरूरी है ।

लूंग:  : यह शरीर को भौतिक पदार्थों (जैसे रक्त), गैर-भौतिक पदार्थों (जैसे विचारों) और ऊर्जा (जैसे तंत्रिका तंत्र आवेग) को प्रसारित करने में सक्षम बनाता है।

त्रिपा: त्रिपा चयापचय, थर्मोरेग्यूलेशन और यकृत कार्यों सहित कई कार्यों का स्रोत है। यह गर्मी की विशेषता है।

बाकेन : यह शारीरिक संरचना के रखरखाव, पाचन के पहलुओं, मानसिक स्थिरता और संयुक्त स्वास्थ्य जैसे कार्यों का स्रोत है। यह ठंड की विशेषता है।

तिब्बती चिकित्सा एक व्यक्ति के संविधान के साथ इन ऊर्जाओं को संतुलन में रखने पर केंद्रित है । हर व्यक्ति का एक अनूठा संविधान होता है और हम इस मेकअप को समझकर अपनी कमजोरियों को दूर कर सकते हैं और अपनी ताकत बढ़ा सकते हैं।

चिकित्सा की पश्चिमी प्रणालियों के विपरीत, तिब्बती चिकित्सा नकारात्मक भावनाओं को शांत करके और अंतर्निहित असंतुलन को ठीक करके बीमारियों का इलाज करने पर अधिक ध्यान केंद्रित करती है। वैकल्पिक चिकित्सा और उपचार चिकित्सा की तलाश में लोग अक्सर तिब्बती चिकित्सा को एकीकृत देखभाल के एक भाग के रूप में चुनते हैं। अगर आपको लगता है कि यह आपके लिए सही विकल्प हो सकता है, तो शुरुआत करने का सबसे अच्छा तरीका एक तिब्बती दवा व्यवसायी की मदद लेना है जो आपको खुशहाल और स्वस्थ जीवन के लिए अपनी ऊर्जा के संतुलन को बहाल करने में मार्गदर्शन कर सकता है!

तिब्बती हीलिंग में गहरी अंतर्दृष्टि के साथ-साथ बेहतर जीवन के लिए अपने जीवन को बदलने के अन्य सार्थक तरीके, आज Kaldan Doma तक पहुंचें ।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here