आप किसी अपने के बार-बार भूलने की स्थिति को कैसे संभालेंगें ?

0
1102
आप किसी अपने के बार-बार भूलने की स्थिति को कैसे संभालेंगें ?

अपने किसी करीबी और अपने प्रियजनों को बार-बार भूलने की स्थिति में झूझते देखना, बहुत ही मुश्किल होता है। यह आपके लिए और बार-बार भूलने की स्थिति से परेशान व्यक्ति के लिए एक पड़ाव है। 

यह आपके और आपके प्रियजन के लिए एक सफर है, इसलिए ये निश्चित कर ले, कि आप इस स्थिति के लिए तैयार है। हमेशा धैर्य रखे और सकारात्मक बने रहें, क्योंकि यह आपके प्रियजन को बार-बार भूलने की स्थिति से निपटने में मदद करता है।

निम्नलिखित बिन्दु अनुसार आप अपने आप को तैयार कर सकते है, ताकि अपने प्रियजन को बार-बार भूलने की स्थिति से निपटने को लिए शतप्रतिशत समर्थन, प्यार और करूणा प्रदान कर सकेः- 

1. अपनी कमियों के संबंध में आत्म-जागरुकता का अभ्यास करना –

एक बार यदि आप अपने अंदर की कमियों को पहचान लेते है, तब आप अपने प्रियजन के लिए और अधिक दयालु और प्यारे हो जाऐंगें, जो बार-बार भूलने की स्थिति के पड़ाव का अनुभव कर रहे है, क्योंकि इतने कमियों के बाद भी आप अगर एक सामान्य जीवन जी सकते है तो आपके प्रियजन बार-बार भूलने की स्थिति के साथ एक सामान्य जीवन क्यों नही जी सकते है।

2. आत्म-दयालुता व्यवहार का होना – 

 यदि आप एक आत्म-दयालु व्यक्ति है, तब आप निश्चित रूप से अपने प्रियजन के बार-बार भूलने की स्थिति का सामना करने में जीत हासिल कर लेगें। आत्म-दयालु व्यक्ति हमेशा आशावादी और उर्जा व जीवन से पूर्णतः भरे होते है, जो कि उनके परिवेश के चारो ओर सकारात्मक आभा प्रदान करते है और आपके प्रियजन को बार-बार भूलने की स्थिति जैसे दर्दनाक सफर से गुजरने के लिए यह सकारात्मकता और आशावाद एक स्तंभ के रुप में काम करते है। 

3. संयम बनाये रखने के लिए आत्म-निरीक्षण करना –

यदि आप आत्म-संयमी व्यक्ति है , तो यह बहुत अच्छा है , लेकिन यदि आप ऐसे नही है तो आपको मेहनती होने की कला को सीखना होगा और बहुत ही धैर्य बनाकर रखना होगा, क्योंकि यह,  बार-बार भूलने की स्थिति से परेशान आपके प्रियजन को संभालने में बहुत ही मदद करेगा। 

4. हमेशा मुस्कुराता चेहरा रखना –

हमेशा कहा जाता है कि ‘‘एक मुस्कुराहट किसी भी तरह के दर्द को ठीक कर सकती है!‘‘ इसलिए जब भी आप अपने प्रियजन के साथ बात करे, तो अपने चेहरे पर मुस्कुराहट रखें और उनके मस्तिष्क पर किसी दबाव के बिना ही उन्हें अपने जीवन के भूले हुये हिस्सों को धीरे-धीरे याद कराने का प्रयास कराना चाहिए। 

हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि प्रियजन, वे लोग होते है, जिन्होनें आपका पालन-पोषण किया और आपको संभाला, जब आप बीमार थे। बिना उनकी दया भाव के आप अपना जीवन नही बना पाते। 

तो बस ऐसे ही शांत,दयालु और संपूर्ण प्रेम व करुणा के साथ तैयार रहें और जो आपको उनसे मिला है, अपने प्रियजन पर उसकी ही बौछार करें।

आप अपने प्रियजन के लिए क्या कर सकते है?

कुछ चीजें है , जिसका उपयोग आप अपने प्रियजनों के बार-बार भूलने की स्थिति से निपटने के लिए कर सकते है। 

1. अतीत या बीते लम्हों के बारे में बात करना शुरु करें-

साधारणतः अपने प्रियजन के साथ बातचीत करना शुरु करें और तब धीरे-धीरे उनसे पूछे कि यदि आपका दोस्त घर पर घूमने आये , तो ठीक है! या फिर पूछे कि आपके प्रियजन अपने दोस्त के साथ चाय या कॉफी के लिए बाहर जाना पसंद करेंगें। नये लोगों के साथ मिलना और सहज हो जाना, हमेशा आपके प्रियजन के लिए बेहतर होता है, क्योंकि यह चिकित्सक से मिलने के दौरान काफी मददगार होगा। यदि आपके प्रियजन किसी अजनबी के साथ बात करने में सहज होंगें , तो वे अपने चिकित्सक से भी मिलने पर भी सहज होंगें और तब उनकी समस्याओं के बारे में चर्चा करना ठीक होगा। निष्कर्ष निकालने के लिए कभी भी जल्दबाजी ना करें, किन्तु यदि आप सोचते है कि आप उत्सुक या बेताब हो रहे है, तो आप एक सहायक को काम पर रखें, ताकि घर का माहौल हमेशा खुशनुमा और तनावमुक्त रह सके। 

2. आपके प्रियजन को उनके इलाज के लिए तैयार करने में सहायता करें, उनकी जांचसूची बनाये और समय पर उन्हें दवायें देतें रहे। 

3. सभी महत्वपूर्ण चीजों को संभाल कर रखना चाहिए।

4. उनके करीबी के पते और टेलीफोन पुस्तकों, कैलेण्डर और घर को व्यवस्थित रखने में उनकी मदद करें।

5. उनके पते और फोन नंबर को उनके गर्दन के चेन के लॉकेट में रखे या उनके कपड़ो पर प्रिंट करायें।

6. नोट्स लगाये, जिसमें उल्लेख करें कि दिनभर के कार्यो को कब और कैसे करना है। 

7. उन्हें एक सक्रिय समाजिक व्यक्ति बनायें।

8. हमेशा अपने यादों को ताजा बनाये रखने के लिए तस्वीरों और अन्य माध्यमों का प्रयोग करें। 

9. यदि भूलने की स्थिति काफी नाजुक है, तो घर और उस व्यक्ति की देखभाल के लिए नौकरानी रखें।

10. कभी भी ब्रेसब ना हो और व्यक्ति की समस्याओं को महत्व देने की कोशिश करे और उसी अनुसार प्रतिक्रिया देवें।

11. उन्हे लेकर हर दिन टहलने के लिए जायें, क्योंकि मस्तिष्क को भी व्यायाम करने की आवश्यकता होती है और ताजी हवा हमेशा आपके शरीर और दिमाग के लिए अच्छी होती है। 

12. ऐसा खाना बनाकर खिलाये , जो उन्हे बेहतर बनाने में मदद करें। 

सूरज की रोशनी के नीचे किया गया प्यार और देखभाल किसी भी बिमारी को ठीक कर सकता है, इसलिए इस सफर का आनंद ले और अपने प्रियजनों के लिए भी संजोने की कोशिश कीजिए। समय के साथ सबकुछ ठीक और सुखदायक होगा, बस अपने आप पर विश्वास करें और अपने प्रियजन को उनका जीवन खुशियों से परिपूर्ण बनाने में, जो कुछ भी आप कर सकते है,उसे करने की पूरी कोशिश करें।

‘‘आप किसी अपने के बार-बार भूलने की स्थिति को कैसे संभालेंगें ?‘‘ पर एक अंतदृष्टि रखने के लिए ईमेल करें info@kaldandoma.com या सोशल मीडिया @kaldandoma का अनुसरण करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here